Sanskrit Pronoun Yat | संस्कृत यत् ये यानि 25

The video teaches the Sanskrit relative pronoun Yat. The pronoun Yat is very important in Sanskrit Grammar, as it is used in translating ‘Who, Whose, Whom, By Whom’ in relative sense.

We will see the Sanskrit pronoun Yat in all the seven cases and three numbers.

Pronoun Yat

संस्कृतम् के इस पाठ में हम सर्वनाम यत् के पुंल्लिंग और नपुंसकलिंग रूपों का अध्ययन करेंगे। संस्कृत में यत् का अर्थ है, कौन, किसको, किसका इत्यादि।

यह संबंधवाची सर्वनाम है। इस संस्कृत पाठ में हम किम् को सात विभक्तियों व तीनों वचनों में देखेंगे। पाठ के अंत में हम सरल संस्कृत वाक्य बनाएँगे।

संस्कृत में किम् के कानि के बारे मे हमने पिछले पाठ मे पढ़ा है, आज हम संस्कृत में किम् के कानि के बारे मे जानेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.